पंचायतों को सशक्त बनाने की जिम्मेवारी निभाएंगे समन्वयक, दिया गया प्रशिक्षण

0
86

वाराणसी। दीनदयाल उपाध्याय राज्य ग्राम्य विकास संस्थान, लखनऊ एवं यूपीएचएसएसपी स्वास्थ्य विभाग, उत्तर प्रदेश शासन के सँयुक्त तत्वावधान में प्रदेश के 12 जनपदों में संचालित किए जा रहे सोशल एकाउंटबिलिटी इंटरवेंशन प्रोजेक्ट इन हेल्थ अंतर्गत ग्राम पंचायत समन्वयकों का तीन दिवसीय क्षमता संवर्धन विषयक प्रशिक्षण दिनांक 12 से 14 दिसम्बर, 2018 तक जिला ग्राम्य विकास संस्थान,परमानन्दपुर वाराणसी पर संपन्न हुआ। प्रशिक्षण सत्र के दौरान ग्राम पंचायत समन्वयकों को पंचायत स्तर पर सरकार द्वारा संचालित की जा रही स्वास्थ्य, स्वच्छता एवं पोषण सम्बन्धी योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी।प्रोजेक्ट का मुख्य उद्देश्य सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं में समुदाय की सहभागिता शत प्रतिशत सुनिश्चित हो तथा समुदाय स्वयं योजनाओं की सफलता में सहभागी बनें। मुख्यतः स्वास्थ्य, स्वच्छता, पोषण कार्यक्रमों की निगरानी हेतु पंचायत स्तर पर 500 की आबादी वाले राजस्व ग्रामों में गठित ग्राम स्वास्थ्य, स्वच्छता एवं पोषण समितियों को सक्रिय करना तथा उनको अपने अधिकारों तथा दायित्यों के प्रति जिम्मेदार/जवाबदेह बनाना है।उक्त कार्य मे प्रोजेक्ट अंर्तगत पंचायत स्तर पर चयनित ग्राम पंचायत समन्वयक, तथा ब्लाक स्तर पर उपजिला समन्वयक और जनपद स्तर पर जिला समन्वयक सहयोग करेंगे। प्रशिक्षण कार्यक्रम में राज्य स्तर से स्टेट आईटी मैनेजर बृज किशोर मिश्र, सोशल एकॉउंटबिलिटी विशेषज्ञ डॉ संतोष सिंह, जिला समन्वयक चन्दौली बिजोय मण्डल, भदोही जिला समन्वयक शिवभगवान और दोनों जनपदों के उपजिला समन्वयक दिलशाद अहमद, विनोद कुमार, महेंद्र मिश्रा, सुरेश पाण्डेय द्वारा विभिन्न विषयों पर जानकारों दी गयी। प्रशिक्षण सत्र का समापन दीनानाथ द्विवेदी, जिला प्रशिक्षण अधिकारी, वाराणसी द्वारा किया गया। प्रशिक्षण में चन्दौली के 11 तथा भदोही के 36 ग्राम पंचायत समन्वयकों ने प्रतिभाग किया। इस अवसर पर कमल शिवास्तव, अमरनाथ द्विवेदी, सुरेश तिवारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन उपजिला समन्वयक सुरेश पाण्डेय ने किया।