कृष्णा फाउंडेशन कई शाखाओं में बगैर मान्यता सीबीएसई के नाम वसूल रहा मोटी फीस

0
66

रायपुर। महालेखा परीक्षा रिपोर्ट में एक ओर जहां बिना अस्तित्व में आये ही कई स्कूलों के नाम पर एससी/एसटी स्कॉलरशिप की करोड़ों रुपए की राशि डकारने का मामला सामने आया है वहीं भिलाई नगर के रहने वाले शेष नारायण शर्मा ने कलेक्टर रायपुर और जिला शिक्षा अधिकारी को शिकायती पत्र भेजकर कृष्णा फाउंडेशन पर कुई शाखाओं को बगैर मान्यता लिए ही सीबीएसई के नाम पर मोटी फीस वसूलने और पालकों को गुमराह करने का आरोप लगाया है। उन्होंने शिकायती पत्र में फाउंडेशन द्वारा संचालित कृष्णा पब्लिक स्कूल तुलसी डेरा का जिक्र किया है। शेष नारायण शर्मा का आरोप है कि इस स्कूल को न तो सीजी बोर्ड से मान्यता है और न ही सीबीएसई से फिर भी पालकों को गुमराह कर सीबीएसई से मान्यता प्राप्त होने की मोटी फीस वसूल की जा रही है। इस स्कूल के प्राचार्य अनुराग का कहना है कि एफिलिएशन के लिए अभी प्रक्रिया चल रही है। इसी तरह से शंकरनगर में भी स्कूल का संचालन कर बगैर मान्यता के सीबीएसई के नाम पर भारी फीस वसूल की जा रही है।

8वीं कक्षा तक सीबीएसई नहीं देता मान्यता
सीबीएसई द्वारा उन्हीं स्कूलों को मान्यता प्रदान की जाती है जिनमें 12वीं तक की कक्षाओं की पढ़ाई होती है। केवली 5वीं और 8वीं तक की कक्षा संचालन करने वाले स्कूलों को सीबीएसई मान्यता ही नहीं प्रदान करती। ऐसे में केवल 5वीं और 8वीं तक की कक्षा चलाने वाले स्कूल सीबीएसई से मान्यता होने का गलत प्रचार कर पालकों से मोटी फीस वसूल करते हैं।

प्रकरण की जांच कराई जा रही : जिला शिक्षा अधिकारी
रायपुर के जिला शिक्षा अधिकारी एएन बंजारा का कहना है कि इस तरह की शिकायत प्राप्त हुई है। शिकायत मिलने के बाद संबंधित मामले की जांच कराई जा रही है। इसके लिए उन्होंने एक जांच समिति गठित करने की भी बात स्वीकार की। उन्होंने कहा कि अगर सीबीएसई बोर्ड से मान्यता के बगैर पालकों को गुमराह कर ज्यादा शुल्क वसूल किया जा रहा है तो ऐसे स्कूलों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।

आरोप पूरी तरह से निराधार : आशुतोष
कृष्णा फाउंडेशन के अध्यक्ष आशुतोष त्रिपाठी से इस संबंध में बात करने पर उन्होंने शेष नारायण शर्मा द्वारा लगाये गये आरोपों को पूरी तरह से तथ्यहीन और निराधार बताया। उन्होंने कहा कि जो शिकायत की गयी है वह पूरी तरह से गलत है। बगैर मान्यता के कोई स्कूल नहीं संचालित किया जा रहा है।