महिला उत्थान मंडल ने किया खिचड़ी और तिल लड्डू का भंडारा

0
38

रायपुर। भारतीय संस्कृति के सारे पर्व ऊँचे उद्देश्य की यात्रा को ही लक्षित करते हैं। मकर संक्रांति का पर्व, उत्तरायण पर्व जीवन में ऐसा सन्देश देता है कि अब हमारा जीवन दक्षिण से उत्तर की ओर बढे। इस दिन ऋतु परिवर्तन की क्रिया को समझते हुए ऋषियों ने तिल का सेवन, तिल युक्त उबटन से स्नान का ज्ञान दिया है। तिल के सेवन से ऋतु परिवर्तन से होने वाली शारीरिक व्याधियों में आराम मिलता है। इस बात को समझते हुए और समाज के जरूरतमंद वर्ग को लक्षित करते हुए, संत आशाराम बापू प्रेरित महिला उत्थान मंडल द्वारा मकर संक्रांति पर्व के निमित्त मेकाहारा हॉस्पिटल के सामने खिचड़ी और तिल लड्डू का भंडारा किया गया। अनेक रिक्शाचालको, मजदूरो, अस्पताल के मरीजो व अन्य राहगीरों को इस आयोजन से लाभ मिला। आयोजन में ललिता यदु, प्रतिभा सिंह, नीलिमा कश्यप, भारती इसरानी व अन्य सेवादार भाई बहन सहयोगी रहे।