राजधानी के शहीद स्मारक भवन में शुरू होगा लाइट एंड शो कार्यक्रम

0
53

रायपुर। लोक निर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू ने मंगलवार को यहां सिविल लाइन स्थित अपने निवास कार्यालय में आयोजित लोक निर्माण विभाग की बैठक में विभागीय काम-काज की समीक्षा की। श्री साहू ने निर्माण कार्यों में किसी तरह की लापरवाही बरतने और गुणवत्ता का ध्यान नहीं रखने वाले अधिकारी और ठेकेदार के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने स्वीकृत सभी निर्माण कार्यों को गति देने के लिए निविदा प्रक्रिया में अनावश्यक विलंब नहीं करने के लिए कड़ी चेतावनी दी। इसमें निर्धारित मापदण्डों का शत-प्रतिशत पालन सुनिश्चित करने भी निर्देशित किया। श्री साहू ने विभाग को समस्त शासकीय आवासों के रंगाई-पोताई तथा मरम्मत कार्य के लिए विशेष अभियान चलाकर इसे दो माह के भीतर पूर्ण करने के लिए निर्देश दिए। इसी तरह आगामी माह अप्रैल-मई में विशेष अभियान चलाकर समस्त स्कूल भवनों के मरम्मत कार्य को पूर्ण करने के लिए निर्देशित किया। लोक निर्माण मंत्री श्री साहू ने बैठक में समीक्षा करते हुए कहा कि प्रदेश के चहुमुंखी विकास के लिए एक मजबूत अधोसंरचना का निर्माण जरूरी है। इसके तहत सड़क, पुल-पुलिया तथा भवनों जैसे कार्यों के निर्माण की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी लोक निर्माण विभाग की होती है। इसके मद्देनजर विभाग की छवि को बनाए रखने में अधिकारी निर्माण कार्यों की गुणवत्ता और इसे समय-सीमा में पूर्ण करने के लिए विशेष ध्यान रखें। श्री साहू ने इसके लिए विभागीय अधिकारियों को मौके का सतत रूप से निरीक्षण करने के लिए आवश्यक निर्देश दिए। लोक निर्माण मंत्री श्री साहू ने प्रदेश के दूर-दराज तथा नक्सल प्रभावित जिलों के अंदरूनी भागों तक सुगम आवाजाही के लिए सड़क मार्गों के निर्माण के लिए अधिक से अधिक प्रस्ताव देने के निर्देश दिए। श्री साहू ने वर्तमान की आवश्यकता के अनुरूप सड़क मार्ग के सिंगल लेन के बजाय डबल लेन सड़क बनाने के प्रस्ताव को अधिक से अधिक शामिल करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए। बैठक में विभाग के अधिकारियों द्वारा राजधानी रायपुर में स्थित शहीद स्मारक भवन में शीघ्र ही लाइट एंड साउंड शो कार्यक्रम के प्रारंभ होने की जानकारी दी गई। वर्तमान में इसका जीर्णाेद्धार तथा मरम्मत कार्य पूर्णता की ओर है। इस अवसर पर लोक निर्माण विभाग के विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारी अनिल राय, प्रमुख अभियंता डी.के. अग्रवाल और विभाग के मुख्य अभियंता स्तर तक के अधिकारी उपस्थित थे।