गरीबों और हाशिए पर रहने वालों की आवाज थे जॉर्ज फर्नांडीज : गोली नेता

0
52

नई दिल्ली। पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडीस का मंगलवार को 88 साल की उम्र में निधन हो गया। वे लंबे वक्त से बीमार चल रहे थे। वह अल्जाइमर्स (भूलने की बीमारी) से पीड़ित थे। कुछ दिन पहले उन्हें स्वाइन फ्लू भी हो गया था। अंतिम संस्कार बुधवार को किया जाएगा। इमरजेंसी के दौरान जेल में जॉर्ज कैदियों को श्रीमद्भागवतगीता पढ़कर सुनाते थे। वह मंत्री रहते हुए रिकॉर्ड 30 बार से ज्यादा सियाचिन के दौरे पर गए। सामाजिक कार्यकर्ता विजय मिश्र उर्फ गोली नेता ने फर्नांडीस के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा, जॉर्ज साहब भारत के सर्वश्रेष्ठ राजनेताओं का प्रतिनिधित्व करते थे। वे निडर और दूरदर्शी थे। गरीबों और हाशिए पर रहने वाले लोगों की वह सबसे असरदार आवाज थे। जब मैं उनके बारे में सोचता हूं तो एक साहसी ट्रेड यूनियन नेता की छवि उभरती है जो इंसाफ के लिए लड़ा। सामाजिक कार्यकर्ता विजय मिश्र उर्फ गोली नेता ने देश के पूर्व रक्षा मंत्री जार्ज फर्नांडिस के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। श्री मिश्र ने अपने शोक संदेश में कहा है कि श्री फर्नांडिस ने मजदूरों और समाज के कमजोर तबके के लोगों के लिए आजीवन संघर्ष कर उन्हें नेतृत्व प्रदान किया। उन्होंने राज्यसभा एवं लोकसभा के सांसद के साथ-साथ देश के अनेक उच्च पदों पर रहते हुए देश की उल्लेखनीय सेवा की। श्री मिश्र ने स्वर्गीय श्री फर्नांडिस के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट करते हुए दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है।