कुंभनगरी में आयोजित विहिप के धर्म संसद का अखाड़ा परिषद ने किया बहिष्कार

0
48

प्रयागराज। दुनिया के सबसे बड़े आध्यात्मिक मेले कुंभनगरी में विश्व हिन्दू परिषद द्वारा आयोजित की गयी धर्म संसद का अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने बहिष्कार कर दिया। परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी ने कहा है कि ये धर्म संसद नहीं, राजनीति है। महंत नरेंद्र गिरी ने ऐलान किया है कि वह 4 मार्च के बाद साधु-संतों के साथ अयोध्या जाएंगे और मुस्लिम पक्षकारों से राम मंदिर मसले पर चर्चा करेंगे। उन्होंने कहा कि हम मुस्लिम पक्षकारों से कहेंगे कि वे मस्जिद की जिद छोड़ दें। बता दें कि गुरुवार से प्रयागराज में वीएचपी की दो-दिवसीय धर्म संसद की शुरू हुई। महंत नरेंद्र गिरी ने कहा कि विश्व हिंदू परिषद और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ बीजेपी के ही संगठन है और हम नहीं चाहते कि राजनीतिक संगठन अब राम मंदिर मुद्दा आगे बढ़ाएं, उन्होंने सिर्फ राजनीति की है। उन्होंने कहा कि सरकार अब मंदिर नहीं बना सकती। अब साधु ही मंदिर बनाएंगे। मैं स्वरूपानंद सरस्वती के प्रस्ताव का समर्थन करता हूं क्योंकि साधु-संतों को ही राम मंदिर के लिए आगे आना होगा। केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि सरकार तीन तलाक और आरक्षण पर कानून ला सकती है तो राम मंदिर पर क्यों नहीं।