मायावती को छोड़ अन्य सभी से गठबंधन के विकल्प खुले रखेगी राजा भइया की पार्टी

0
133

लखनऊ। कुंडा विधानसभा क्षेत्र सीट से लगातार 25 वर्षों से विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भइया की नई राजनैतिक पार्टी आगामी लोकसभा चुनावों में बसपा को छोड़कर अन्य किसी भी राजनैतिक दल से गठबंधन कर सकती है। विधान परिषद सदस्य अक्षय प्रताप सिंह उर्फ गोपालजी ने मंगलवार को गोंडा के सर्किट हाउस में पत्रकारों को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं। उन्होंने कहा कि उनकी नई पार्टी मुद्दों पर आधारित गठबंधन करेगी लेकिन वह मायावती के साथ कतई नहीं जायेंगे। आगामी 30 नवंबर को लखनऊ के रमाबाई मैदान में राजा भइया अपनी नई राजनैतिक पार्टी का ऐलान करेंगे। प्रतापगढ़ जिले के कुंडा विधानसभा सीट से रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भइया निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर छह बार विधानसभा का चुनाव जीत चुके हैं। पहली बार वर्ष 1993 में वह इस सीट से विधायक चुने गए थे और तब से 25 वर्षों से लगातार इस सीट पर काबिज हैं। इस वर्ष वह अपने जीत का रजत जयंती वर्ष मना रहे हैं। इस रजत जयंती वर्ष में उन्होंने नए राजनैतिक दल के गठन का ऐलान किया है। इस पार्टी के गठन से पहले जनमत जुचाने के लिए विधान परिषद सदस्य अक्षय प्रताप सिंह उर्फ गोपालजी मंगलवार को गोंडा जिले में पंहुचे और अपने समर्थकों के साथ विचार विमर्श किया। सर्किट हाउस में पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए अक्षय प्रताप ने कहा कि राजा भइया आगामी 30 नवंबर को लखनऊ के रमाबाई मैदान में समर्थकों संग रैली कर अपनी ताकत दिखायेंगे। इसी रैली में नई पार्टी के नाम का ऐलान किया जायेगा। लोकसभा चुनाव में गठबंधन के सवाल पर अक्षय प्रताप ने कहा कि उनकी पार्टी बसपा को छोड़कर अन्य किसी भी दल के साथ गठबंधन कर सकती है। इसके लिए विकल्प खुले रहेंगे लेकिन पार्टी मायावती के साथ कतई नहीं जायेगी।