दीनों के दीनानाथ हैं जगन्नाथ: ओमप्रकाश पांडे अनिरुद्ध रामानुज दास

0
300

प्रतापगढ़ । सर्वोदय सद्भावना संस्थान द्वारा आयोजित गुरुदेव नारायण श्री श्री 1008 स्वामी श्री इंदिरा रमण रामानुज दास पीठाधीश्वर श्री जीयर स्वामी मठ जगन्नाथ पुरी के आशीर्वाद एवं जगन्नाथ जी कृपा से भगवान श्री जगन्नाथ जी की रथयात्रा गोपाल मंदिर से अब की आठवीं बार निकाली गई। उक्त अवसर पर ओमप्रकाश पांडे अनिरुद्ध रामानुज दास ने कहा कि भगवान श्री जगन्नाथ जी दीनों के दीनानाथ हैं ।भगवान श्री जगन्नाथ जी की रथयात्रा सतयुग से चली आ रही है । भगवान की रसोई में 10000 आदमियों का भोजन प्रसाद 1 घंटे में बन सकता है और जगन्नाथ जी की ध्वजा पताका मंदिर पर हवा के विपरीत सदैव फहराती है। भगवान श्री कृष्ण ही जगन्नाथ जी है रथयात्रा में जगन्नाथ जी बलभद्र जी और सुभद्रा जी का श्री विग्रह विराजित था।रास्ते में लोग जयकारे लगा रहे थे।

घंटा घड़ियाल और शंख नाद के बीच शहर में जब यात्रा गुजरी तो लोग पुष्प वर्षा कर रहे थे । अनेक स्थानों पर रोक कर आरती उतारी गई। यात्रा में मुख्य रूप से महंत श्री सारंग धराचार्य सारंग मंदिर प्रयाग एवं पंडित श्याम किशोर शुक्ला, प्रवेश जी प्रचारकजी, हरि प्रताप सिंह पूर्व विधायक, बृजेश सौरभ पूर्व विधायक, शिव प्रकाश मिश्र सेनानी ,सौरभ पांडे, कार्तिकेय द्विवेदी ,श्री किशोर अग्रवाल, संतोष द्विवेदी ,डॉक्टर शिवेशानंद, राजेंद्र केसरवानी अध्यक्ष व्यापार मंडल ,श्याम सुंदर टाऊ, रतन जैन ,नारायणी रामानुज दासी, लक्ष्मी मिश्रा, अनीता पांडे, रेखा शुक्ला ,दीप्ति मिश्रा, सुभद्रा दासी, सरला दासी, जनक लली रामानुज दासी ,राकेश सिंह, निधि सिंह, नीलम सिंह प्राचार्य ,गिरीश दत्त मिश्रा, आचार्य कमलेश तिवारी, कमला श्रीवास्तव, रमाकांत तिवारी पुजारी गोपाल मंदिर सहित अनेको लोगों ने रथ को खींच रहे थे । सायंकाल रामानुज आश्रम, संत रामानुज मार्ग ,शिव जी पुरम में विशाल भंडारे का आयोजन किया गया जिसमें हजारों महिला, पुरुष , बालक महाप्रसाद को ग्रहण किए।