देश भर में बच्चों ने बाल शोषण और हिंसा के विरुद्ध उठाई आवाज

0
34

नई दिल्ली। माउंट लिटेरा जी स्कूल्स , भारत में प्राइवेट और गैरसहायता प्राप्त स्कूलों की तेजी से बढ़ रही चेन, ने देश भर में अपनी विभिन्न शाखाओं में राष्ट्रीय स्तर पर बाल शोषण रोकथाम सप्ताह मनाया। बाल शोषण रोकथाम सप्ताह के तहत स्कूलों की अलग-अलग शाखाओं के छात्रों के बीच वॉकाथन, नुक्काड़ नाटक और वाद-विवाद प्रतियेगिता जैसे कई कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। पंजाब के तरन तारन स्थित माउंट लिटेरा स्कूल ने वाद-विवाद प्रतियोगिता आयोजित की, जिसके बाद छठी, सातवीं और आठवीं के छात्रों ने डीसी आॅफिस से जंडियाला चौक तक वॉकाथन का आयोजन किया। इसके अलावा उसी दिन तरन तारन में डीसी आॅफिस और सरकारी अस्पताल के पास 45 छात्रों ने नुक्कड़ नाटक का आयोजन किया।इसी तरह छत्तीसगढ़ के बालौदा बाजार जिले में स्थित माउंट लिटेरा स्कूल के छात्रों ने कस्बे की 3 विभिन्न जगहों पर नुक्कड़ नाटक और वॉकाथन का आजन किया। छठी क्लास तक के सभी बच्चों ने बाल शोषण रोकथाम कार्यक्रमों में भाग लिया। स्कूल में पैरंट्स के लिए आई केयर पर सेमिनार का आयोजन किया गया।
जम्मू स्थित माउंट लिटेरा जी स्कूल्सल के छात्रों ने शहर के भीड़-भाड़ वाले इलाके बाहु के किले में नुक्कड़ नाटक का आयोजन किया। बाल शोषण रोकथाम सप्ताह जी लर्न के आई केयर प्रोग्राम का हिस्सा है। यह किसी शैक्षिक संस्थान की इस दिशा में की गई सबसे बड़ी पहल है। आई केयर में बाल शोषण और बच्चों के साथ दुर्व्यवहार के संबंध में समुदाय में संवेदनाएं जगाने का प्रयास किया जाता है। इसमें बच्चों के शोषण की प्रकृति, बाल शोषण के लक्षण और इस बुराई की रोकथाम के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी दी जाती है। जी लर्न आई केयर में पहले 5000 से ज्यादा सेमिनार आयोजित कर चुका है। 40 हजार से ज्यादा नागरिकों तक आइ केयर अपनी पहुंच बना चुका है। जी लर्न अपनी आधुनिक शिक्षण पद्धति-लिटेरा आॅक्टेव के माध्यम से अपने ब्रैंड नेम माउंट लिटेरा जी स्कूल्स में भावी पीढ़ी को बेहतरीन शिक्षा प्रदान कर रही है, जिससे बच्चों को उनकी वास्तविक क्षमता को परखने का मौका मिलता है।