ई-कॉमर्स बिजनस में हाथ आजमाएगी रिलायंस

0
54

गांधीनगर । रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन मुकेश अंबानी अपने ई-कॉमर्स मॉडल को सबसे पहले गुजरात में आजमाएंगे। अंबानी प्रभावशाली तरीके से ई-कॉमर्स सेक्टर में कदम रखने जा रहे हैं। रिलायंस का नया वेंचर ठीक उसी तरह ऐमजॉन और फ्लिपकार्ट को चुनौती दे सकता है जैसे जियो ने टेलिकॉम सेक्टर में उतरते ही प्रतिद्वंद्वियों के लिए मुश्किलें बढ़ा दीं। वाइब्रेंट गुजरात समिट में अपने प्लान के बारे में बताते हुए अंबानी ने खुलासा किया कि वह ई-कॉमर्स प्लैटफॉर्म को सबसे पहले गुजरात में लॉन्च करेंगे। उन्होंने कहा कि जियो और रिलायंस रीटेल के नए ई-कॉमर्स प्रॉजेक्टस से गुजरात में 12 लाख दुकानदारों को फायदा होगा। अंबानी ने कहा कि जियो का नेटवर्क 5जी सेवाओं के लिए तैयार है। इसलिए अब उसकी दूरसंचार इकाई और खुदरा कारोबार इकाई मिलकर एक नया प्लैटफॉर्म तैयार करेगी जो छोटे खुदरा व्यापारियों, दुकानदारों और ग्राहकों को आपस में जोड़ेगा। हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि जियो 5जी सेवाएं कब शुरू करेगा। अंबानी का रीटेल प्लान, आॅनलाइन या आॅफलाइन, 2019 में इंडिया इंक की रणनीति के लिए अहम होगा। विदेशी कंपनियों पर फरवरी 2019 से लागू होने जा रहे सख्त ई-कॉमर्स नियमों से इसे और बल मिलेगा।
10 साल में 3 लाख करोड़ का निवेश
देश के सबसे धनी व्यक्ति मुकेश अंबानी ने शुक्रवार को गुजरात में अगले 10 साल में 3 लाख करोड़ रुपये निवेश करने की प्रतिबद्धता जताई। उन्होंने कहा कि वह ऊर्जा, पेट्रोरसायन, नई तकनीक से लेकिर डिजिटल कारोबार सहित कई परियोजनाओं में यह निवेश करेंगे।
गुजरात पहली पसंद
मुकेश अंबानी ने कहा, गुजरात रिलायंस की जन्मभूमि और कर्मभूमि है। गुजरात हमेशा से हमारी पहली पसंद रहा है और रहेगा। रिलायंस समूह ने रिलायंस जियो के माध्यम से दूरसंचार क्षेत्र में अरबों डॉलर का निवेश किया है। उन्होंने कहा, हमने गुजरात राज्य में अब तक करीब 3 लाख करोड़ रुपये का निवेश किया है, और यहां करीब 10 लाख लोगों के लिए आजीविका के अवसर पैदा किए हैं। पिछले दशक की तुलना में रिलायंस आने वाले दस साल में अपने निवेश और रोजगार की संख्या को दोगुना करेगा।