मैरी कॉम सर्वश्रेष्ठ मुक्केबाज घोषित

0
56

नई दिल्ली। भारत की दिग्गज मुक्केबाज एमसी मैरी कॉम को यहां सम्पन्न हुईं 10वीं आईबा महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप की सर्वश्रेष्ठ मुक्केबाज घोषित किया गया। अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी महासंघ ने चैंपियनशिप के सफल आयोजन के लिए भारतीय मुक्केबाजी संघ की तारीफ की। आईबा पैनल ने 35 वर्षीय मैरी कॉम को चैंपियनशिप में भाग लेने वाली प्रतिभागियों के बीच सर्वश्रेष्ठ मुक्केबाज चुना। मैरी कॉम ने शनिवार को चैंपियनशिप में छठा विश्व खिताब जीतकर इतिहास रचा। उन्होंने 2006 में भी यहां हुई चैंपियनशिप मे हिस्सा लिया था। मैरी कॉम ने रविवार को कहा कि इस बार कुछ ही देशों की मुक्केबाजों ने इसमें भाग लिया। इसे अभी भी ओलिंपिक में शामिल नहीं किया गया है। इसके बावजूद हम अब तक चार स्वर्ण सहित आठ पदक जीत चुके हैं। इस बार यहां हमारा प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है जिसमें हमने एक स्वर्ण, एक रजत और दो कांस्य पदक जीते हैं। जहां तक टूर्नामेंट के आयोजन की बात है तो यह 2006 से अच्छा रहा है। यह पूछे जाने पर कि यह पदक पिछले पदकों की तुलना में कितना अलग है, मणिपुर की मैरीकॉम ने कहा कि यह मेरे लिए बेहद खास है क्योंकि यहां मैं अपने घरेलू दर्शकों के सामने थी और अलग किग्रा में थीं। मुंबई। भारत की दिग्गज मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम ने शनिवार को विश्व कप महिला मुक्केबाजी में छठा स्वर्ण पदक जीता। सोशल मीडिया पर मैरी कॉम को मिलने वाली बधाइयों की बाढ़-सी आ गई है। इनमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर बॉलीवुड हस्तियों तक सभी उन्हें बधाई दे रहे हैं।