प्रर्यावरण बचाने गोबर के कंडे से अंतिम संस्कार कर सेन समाज ने पेश की मिसाल

0
27

रायपुर। सेन समाज के वरिष्ठ संरक्षिका श्रीमति केजा देवी ठाकुर ने मृत्यु के पहले अपने बेटे व पोतो से अंतिम ईच्छा जाहिर करते हुये कहा था कि मुझे मरणोपरांत मेरा अंतिम संस्कार लकड़ी से नही ,सिर्फ कंडे (गोबर से बना छेना ) से करना ताकि वन बचाओ जंगल बचाओ अभियान की मुहिम को बल मिल सके। उनकी इस इच्छा को सेन समाज के पदाधिकारीयो ने मिलकर पूरी किया और पर्यावरण बचाने का प्रभावी संदेश दिया। अंतिम संस्कार के बाद उपस्थित लोगों को शपथ भी दिलवाई गई कि आज के बाद शव के अंतिम संस्कार में कंडे का प्रयोग करेंगे। इस अवसर पर प्रदेशाध्यक्ष डी.आर.ठाकुर ,राधेश्याम , दाऊलाल , शुशील सरेठे ,जीवन लाल , संतोष ठाकुर दिलीप , बिष्णु , यादेश्वर , भोजलाल , अंजन सिँह , फेकुराम , बद्रीप्रसाद , दीपक , जीवीतराम ईश्वर लाल , रामशरण , खेमचंद , राकेश , किशोर , नरेंद्र ,सुरेंद्र , गंगाराम अनिल , लोकनाथ , भेषलाल , हेमलाल , द्वारका , जगदीश , प्रदीप , चिंटु , रामशंकर एवं जिलाध्यक्ष डाँ मनोज कुमार ठाकुर उपस्थित रहे।